इस फैक्ट्री के बनने से मुकेश अंबानी की संपत्ति कई गुना बढ़ जाएगी

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी एक सफल बिजनेसमैन हैं। मुकेश अंबानी व्यापार में जो कुछ भी करते हैं उससे बहुत पैसा कमाते हैं। रिलायंस जियो इसका सबसे बड़ा उदाहरण है। हाल ही में मुकेश अंबानी ने हरित ऊर्जा खंड में निवेश करने की घोषणा की है।

अमेरिकी शोध और ब्रोकरेज फर्म बर्नस्टीन रिसर्च ने कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज अगले 5 साल तक हरित ऊर्जा कारोबार में सफलता का नया अध्याय लिखेगी। एक अमेरिकी शोध फर्म के मुताबिक, पांच साल में रिलायंस का नया हरित ऊर्जा कारोबार 36 36 अरब यानी 2.6 लाख करोड़ रुपये का हो जाएगा।

रिपोर्ट में आगे दावा किया गया है कि अगर सब कुछ ठीक रहा, तो 2026 में रिलायंस के कुल कारोबार में ग्रीन एनर्जी की हिस्सेदारी 10 फीसदी हो जाएगी।

क्या है मुकेश अंबानी की योजना: पिछले महीने हुई एजीएम में मुकेश अंबानी ने हरित ऊर्जा में अपने निवेश की घोषणा की थी. कंपनी 75,000 करोड़ रुपये का निवेश करेगी, जिसमें से 60,000 करोड़ रुपये 4 गीगा फैक्ट्री की स्थापना पर खर्च किए जाएंगे। फैक्ट्री सोलर, बैटरी, फ्यूल सेल और इलेक्ट्रोलाइजर्स का निर्माण करेगी। ये सभी फैक्ट्रियां गुजरात के जामनगर में शुरू की जाएंगी। रिलायंस की योजना 2030 तक 100 गीगावाट सौर ऊर्जा की क्षमता रखने की है।

क्या हैं चुनौतियां: रिपोर्ट में कहा गया है कि कई तेल कंपनियों ने पहले स्वच्छ ऊर्जा निर्माण कंपनी बनने की कोशिश की थी, लेकिन वे असफल रहीं। मैन्यूफैक्चरिंग पर रिलायंस का फोकस बिल्कुल अलग है। इसमें ज्यादा मार्जिन होने की संभावना है। हालांकि,

स्वच्छ ऊर्जा में सीमित विनिर्माण क्षमता रिलायंस के सामने सबसे बड़ी चुनौती है। इस चुनौती से निपटने के लिए रिलायंस नए पार्टनर की तलाश में है। यह साझेदारी ईंधन सेल और बैटरी निर्माण के लिए तकनीकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here