बहू परिवारमे करेगी राज,बस विदाई के समय करें ये काम

एक बेटी की शादी में सबसे खुश व्यक्ति माता-पिता हैं। माता-पिता के मन में चिंता है। जैसे ही बेटी के जाने का समय होता है, पूरा घर उदास हो जाता है। हर कोई अपनी बेटी को अलविदा कहते हुए उनकी आंखों में आंसू हैं। माता-पिता का दिल सोच रहा है,

कि बेटी को नए घर में खुशी मिलेगी या नहीं। आप इस चिंता को पूरी तरह से समाप्त नहीं कर सकते हैं, लेकिन कुछ उपाय हैं जिनका उपयोग करके आप स्थिति को सुधार सकते हैं। अगर आप चाहते हैं कि आपकी बेटी अपने ससुराल में खुश रहे तो आप कुछ उपाय अपना सकते हैं।

जब लड़की शादी के बाद पहली बार अपने ससुर के घर जा रही हो, तो उसे हल्दी की गांठ दें। विवाहित महिला इसे एक पीले कपड़े में लपेट कर अपनी अलमारी में रखेगी। इस घर की आर्थिक स्थिति अच्छी रहती है और साथ ही यह ससुराल पक्ष में अपना सम्मान बनाए रखता है।

यदि आप अपनी बहू की भलाई के लिए चिंतित हैं, तो काली मेहंदी के चारों ओर हरी मेहंदी लगाएं और मिश्रण को उस दिशा में फेंक दें जहां आपकी बहू का घर है। इस कदम से पति-पत्नी के बीच प्यार बढ़ेगा।

शादी के बाद अगर बेटी हल्दी की सात गांठ, पीतल का एक टुकड़ा और थोड़ा सा गुड़ लेती है और उसे अपने ससुर के घर के दरवाजे पर रख देती है, तो पति के घर में सम्मान बढ़ता है।

लड़की की विदाई के समय, गंगाजल, कुछ हल्दी और तांबे का सिक्का लड़की के सिर से सात बार उतारें और इसे कमल में एक एकांत स्थान पर फेंक दें इस उपाय से नवविवाहिता अपने ससुराल में हमेशा खुश रहेंगी।

जब बेटी पहली बार ससुराल जा रही हो, तो उसे घर से एक नारियल दें। इस नारियल को पूजाघर में रखना चाहिए और नियमित रूप से पूजा करनी चाहिए। इस उपाय को करने से युगल के बीच प्यार बढ़ता है।

जब लड़की शादी के बाद पहली बार अपने ससुर के घर जा रही होती है, तो माँ उसके बगल में चार तांबे की कीलें देती है। कुंवारी इस कील को आपके बिस्तर के बिस्तर में लगाती है। इस तरह पति-पत्नी के बीच का रिश्ता खुशहाल बना रहता है।

शादी के बाद लड़की को बिदाई के समय अपनी माँ से एक छोटा सिंदूर लेना चाहिए और उसी मांग में सिंदूर भरना चाहिए। इससे इस युवती की खुशी बढ़ जाती है और वह अपने पति को बिना शर्त प्यार देती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here