यदि आपके हाथ की हथेली में यह एक निशान है, तो आपको एक अमीर साथी मिलेगा

हस्तरेखा विज्ञान में कुछ प्रतीकों को बहुत महत्व दिया जाता है क्योंकि वे जीवन से जुड़े महत्वपूर्ण पहलुओं को इंगित करते हैं। जैसे- त्रिकोण, स्वस्तिक, तारे या क्रॉस के निशान। हथेली पर जिस स्थान के निशान होते हैं उसी के अनुसार यह फल देता है। क्रॉस के चिन्ह की बात करें तो यह चिन्ह बहुत ही खास है,

 क्योंकि इसका जीवन पर शुभ और अशुभ दोनों तरह का प्रभाव पड़ता है। इसके शुभ और अशुभ प्रभावों को जानने के लिए हथेली में इसकी स्थिति जानना आवश्यक है।

यदि किसी व्यक्ति के हाथ में बृहस्पति पर्वत पर क्रॉस का निशान हो तो यह बहुत ही शुभ होता है। हाथ की पहली उंगली या तर्जनी के नीचे के उभार को बृहस्पति पर्वत कहा जाता है। इस स्थान पर क्रॉस की उपस्थिति व्यक्ति को सभी प्रकार के सुख प्रदान करती है। इतना ही नहीं ऐसे जातक को बहुत अच्छा साथी भी मिल जाता है।

उसका साथी न केवल उच्च शिक्षित है, बल्कि वह एक अमीर परिवार से भी ताल्लुक रखता है। साथ ही इनका वैवाहिक जीवन सुखी रहता है। कुल मिलाकर ऐसे लोग हर चीज में बहुत भाग्यशाली होते हैं और खासकर शादी के मामले में तो बेहतर होता है कि क्रॉस का चिन्ह बृहस्पति पर्वत पर ही हो। इसके अलावा हथेली में अन्य जगहों पर क्रॉस के निशान होना अच्छा संकेत नहीं है।

केतु पर्वत पर क्रॉस का निशान होने से जातकों को बीच में ही शिक्षा मिलती है जिन लोगों के हाथ में बुध पर्वत पर क्रॉस का निशान होता है वे भरोसेमंद नहीं होते हैं। ऐसे लोग झूठ बोलने और झूठ बोलने में माहिर होते हैं।शनि पर्वत पर क्रॉस का चिन्ह किसी बड़ी लड़ाई में शामिल होने या किसी बड़े दुर्घटना का शिकार होने का संकेत है। ऐसे लोग समय से पहले दुनिया छोड़ देते हैं।

सूर्य पर्वत पर क्रॉस का चिन्ह, जो प्रतिष्ठा का कारक है, बदनामी का कारण बनता है। वहीं यह चिन्ह व्यापारियों को बार-बार पीड़ा देता है।इसके अलावा हृदय रेखा पर क्रॉस का निशान हो तो व्यक्ति को हृदय रोग हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here