बहने बोली में टॉयलेट जा रही हु, वापिस आकर देखातो भाई ऐ कर ली थी खुदखुशी।।

राजस्थान के चर्चित सीआई आत्महत्या मामले में अब उनके बेटे ने भी आत्महत्या कर ली है. मई 2020 में राजगाग थाने के एसएचओ विष्णुदत्त बिश्नोई ने आत्महत्या कर ली। 

मंगलवार को विष्णुदत्त के लाड़ले बेटे लक्ष्य को भी बाथरूम में पंखे से लटका दिया गया। इस घटना के बाद से न सिर्फ विष्णु दत्त का परिवार बल्कि पुलिस महकमा भी मुश्किल में है। घर से तेज चीख की आवाज सुनकर कांता खतुरिया कॉलोनी हिल गई।

लक्ष्य 12वीं कक्षा की छात्रा थी और ऑनलाइन पढ़ाई के बाद अपनी बहन से बात करती थी। बड़ी बहन के साथ सामान्य रूप से बात करते हुए उसने शौचालय जाने की इच्छा व्यक्त की और पहली मंजिल पर स्नानागार में चला गया। पंद्रह-बीस मिनट तक नहीं लौटने पर बहन ने फोन किया।

कोई जवाब न मिलने पर उसकी बेचैनी बढ़ गई। उसकी मां भी चिल्लाई लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। बाद में उसने दरवाजा खटखटाया लेकिन वह नहीं बोला फिर किसी तरह उसने बाथरूम के अंदर झाँका तो उसके होश उड़ गए। लक्ष्य गले से लगा हुआ था। पड़ोसी भी पहुंचे और उन्हें अस्पताल ले जाया गया। हालांकि, जब डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया तो परिवार में कोहराम मच गया।

विष्णु दत्त की मृत्यु के बाद, वह अपनी पत्नी, बेटे और बेटी के साथ रहते थे। बेटा-बेटी दोनों पढ़ाई कर रहे थे, इसलिए बीकानेर में रहने का फैसला किया गया। लक्ष्य की आत्महत्या के बाद घर के आसपास रहने वाले लोगों ने इसकी सूचना जयनारायण व्यास कॉलोनी पुलिस को दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here