70 साल के बुजुर्ग को हॉस्पिटल में हुआ 55 की महिला से प्यार, बच्चों ने करवा दी शादी

जिस तरह प्यार की भी कोई उम्र नहीं होती है, ठीक वैसे ही शादी की भी कोई उम्र नहीं होती है। आप जब चाहे, जिस उम्र में चाहे शादी कर सकते हैं।

हालांकि भारत में जब कोई बूढ़ा इंसान दोबारा शादी रचाने लगे तो समाज उसकी हंसी उड़ाता है। हालांकि जिन्हें सच्चा प्यार हो जाए उसे इस बात की भी कोई परवाह नहीं होती है। अब मध्य प्रदेश के भूराखेड़ी गांव के न्यूली मैरिड कपल को ही ले लीजिए। यहां एक 70 साल के बुजुर्ग को 55 साल की महिला से प्यार हो गया। ऐसे में दोनों ने शादी भी रचा ली। इनकी लव स्टोरी भी बहुत दिलचस्प है।

अस्पताल में हुआ प्यार

दरअसल मध्य प्रदेश के भूराखेड़ी निवासी 70 वर्षीय ओमकार सिंह की कुछ दिन पहले तबीयत बिगड़ गई थी। ऐसे में वे जिला अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती हुए थे। यहीं उनकी मुलाक़ात 55 साल की गुड्डीबाई से हुई। जल्द ही दोनों में प्यार हो गया। आलम ये था कि महज़ तीन दिनों में ही दोनों ने शादी जैसा बड़ा फैसला ले लिया।

बच्चों ने करवाई शादी

जैसे ही ओमकार सिंह को हॉस्पिटल से छुट्टी मिली तो वे गुड्डीबाई को भी ऑटो में बैठा अपने साथ ले आए। यहां उन्होने अपने चार बेटों के सामने इच्छा जाहीर करी कि वे गुड्डीबाई संग रहना चाहते हैं।

बस फिर क्या था उनके बेटों और गांव के लोगों ने दोनों की शादी करवा दी। शादी में उनके जान पहचान के सभी लोग शामिल हुए। ओमकार सिंह की बीवी तीन साल पहले ही चल बसी थी। ऐसे में वे अकेला महसूस भी कर रहे थे। जीवन के इस पढ़ाव में अब उन्हें अपने दुख दर्द और सुख बांटने के लिए एक साथी मिल गई। वहीं गुड्डीबाई भी ओमकार सिंह से शादी रचा बेहद खुश हैं।

सोशल मीडिया पर यह लव स्टोरी चर्चा का विषय बनी हुई है। लोग भी इनकी शादी की खबर सुन खुश हैं। अधिकतर यह देखा जाता है कि जब मां या पिता अधिक उम्र में दूसरी शादी का फैसला करते हैं तो बच्चे इस बात से नाखुश दिखाई देते हैं।

हालांकि इस केस में तो ओमकार सिंह के चारों बेटों ने अपने पिता की खुशी खुशी दूसरी शादी करवा दी। आप में से बहुत से लोगों को यह भी लगे कि इस उम्र में दूसरी शादी की क्या जरूरत है। लेकिन यही वो उम्र होती है जब इंसान सबसे अकेला महसूस करता है। बच्चे शादी के बाद अपने परिवार में व्यस्त हो जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here