46 लाख रुपए खर्च कर इस बूढ़े ने फहराया तिरंगा, इसके पीछे की दिलचस्प कहानी जानकर आप भी जाएंगे चौकी

तिरंगा देश की शान है, जिसके लिए जवान फौज भी कुर्बानी देती है।लेकिन राजस्थान के झुंझुनू में एक ऐसी अनोखी कहानी है, जिसे आज तक किसी ने नहीं सुना।जानिए इनकी दिलचस्प कहानी, तो आप सलाम करेंगे .

दरअसल, झुंझुनू निवासी जगदीश प्रसाद जजादिया तिरंगा फहराने के इतने जुनूनी थे कि उन्होंने 15 तिरंगा फहराने के लिए पेंशन, ग्रेच्युटी और पॉलिसी में जमा 46 लाख रुपये खर्च कर 15 तिरंगा फहराया.

आपको बता दें कि जगदीश प्रसाद द्वारा तिरंगा फहराने के पीछे एक कहानी है। उन्होंने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि मेरे घर में 101 फीट का झंडा है। वे नाराज थे और उन्होंने उस दिन से कसम खाई थी कि इतने सारे झंडे होंगे क्षेत्र में अब फहराया जाए कि कोई यह न पूछे कि यह कौन सा झंडा है।

जगदीश प्रसाद जजादिया ने 75 तिरंगे फहराने का लक्ष्य रखा है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के युवाओं में देशभक्ति की भावना जगानी चाहिए। जब भी वह इन तिरंगे को देखता है तो उसके मन में उसके प्रति सम्मान होना चाहिए। उसे देखते ही लोग उसे सलाम करते हैं। इसलिए वह चाहता है कि सरकार और लोग इस काम में उसकी मदद करें।

उल्लेखनीय है कि जगदीश प्रसाद तिरंगे झंडे और उससे जुड़ी टीम को दिल्ली के सदर बाजार से बुलाते हैं। जगदीशभाई खुद के सामने संरचना का निर्माण करते हैं। मंडेला के स्कूलों में झंडे फहराए जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here