शनिदेव की कृपा से इन 6 कामों पर ध्यान दें, बिगड़े हुए काम अच्छे हो जायेंगे

ज्योतिष में, हमारे जीवन की सबसे छोटी चीज और सबसे बड़ी चीज किसी न किसी ग्रह से जुड़ी होती है। ज्योतिष के अनुसार, बूट-चप्पल भगवान शनि का प्रतिनिधित्व करते हैं। इसीलिए कहा जाता है कि शनि की बुरी दृष्टि होने पर काले जूते का दान करना चाहिए। इसलिए जब हम क्या बूट पहनते हैं, तो हम उन्हें कैसे पहनते हैं और कहाँ पहनते हैं, इन सबका हमारे भाग्य पर असर पड़ता है।

अगर हम बूट-चप्पल से जुड़ी चीजों को जान लें तो हमारा दुर्भाग्य दूर हो जाएगा और सौभाग्य भी बेहतर होगा और हमें आपको देखने में सफलता भी मिलेगी।

तो आइये जानते हैं 6 महत्वपूर्ण बातें।

1. कभी भी ऐसे जूते न पहनें जो जीवन में किसी के द्वारा उपहार या चोरी किए गए हों। आप इस तरह के बूट पहनकर कभी नहीं उठ सकते। आपका भाग्य हमेशा के लिए अधर में लटक जाता है।

2. अपने ऑफिस या कार्य स्थल पर कभी भी नीले रंग के जूते न पहनें। यह सफल काम को भी बिगाड़ता है। बैंक या शिक्षा के क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को कॉफी रंग या गहरे भूरे रंग के जूते पहनना अशुभ माना जाता है।

3. नौकरी की तलाश में या इंटरव्यू देने जाते समय कभी भी फटे या क्षतिग्रस्त जूते न पहनें। यह केवल विफलता और हताशा को जन्म देगा।

4. चिकित्सा क्षेत्र के लोग और डॉक्टर, फार्मेसियों और लोहे के काम करने वालों को सफेद जूते नहीं पहनने चाहिए। इससे उन्हें वित्तीय नुकसान हो सकता है। आयुर्वेदिक कार्यों में शामिल लोगों को नीले रंग के जूते नहीं पहनने चाहिए। ऐसा करने से आप पर हानिकारक प्रभाव पड़ सकता है।

5. घर में कभी भी बूट-चप्पल पहन कर नहीं खाना चाहिए। बड़ा आपातकाल होने पर यह अलग है लेकिन ऐसा करने से जीवन में दुर्भाग्य आता है।

6. वास्तु शास्त्र के अनुसार, गलती से भी घर के उत्तर-पूर्व कोने में बूट-चप्पल नहीं रखना चाहिए और इसे उतारना नहीं चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here